भारत-बांग्लादेश द्वीपक्षीय आभासी शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री

 17 DEC 2020

Your Excellency, प्रधानमंत्री शेख हसीना जी, नमस्कार!

बिजोय दिबशेर औनेक औनेक ओभीनोंदन आर पोश पार्बोनेर शुबेच्छा !

आज सारी दुनिया virtual summits कर रही है। लेकिन आपके और मेरे लिए यह माध्यम नया नहीं है। कई वर्षों से हम वीडियो के माध्यम से बातचीत करते रहे हैं।

कई बार हमने वीडियो के माध्यम से projects को launch और inaugurate भी किया है।

Excellency,

विजय दिवस के तुरंत बाद, आज की हमारी मुलाकात और अधिक विशेष महत्व रखती है।

Anti-liberation forces पर बांग्लादेश की ऐतिहासिक जीत को आपके साथ विजय दिवस के रूप में मनाना हमारे लिए गर्व की बात है।

आज जब बांग्लादेश आजादी के उनचास वर्ष मना रहा है, मैं दोनों देशों के शहीदों को, जिन्होंने अपने प्राणों की आहुति दी, श्रद्धापूर्वक नमन करता हूँ।

विजय दिवस के अवसर पर कल मैंने भारत में राष्ट्रीय समर स्मारक में श्रद्धासुमन अर्पित किए। और एक ‘स्वर्णिम विजय मशाल’ प्रज्वलित करी।

यह चार ‘विजय मशाल’ पूरे भारत में भ्रमण करेंगी, हमारे शहीदों के गाँव-गाँव ले जाई जाएँगी।

16 दिसम्बर से हम ‘स्वर्णिम विजय वर्ष’ मना रहें हैं, जिसमे भारत भर में कई कार्यक्रम आयोजित किए जाएँगे।

Excellency,

‘मुजीब बर्षो’ के अवसर पर मैं सभी भारतीयों की ओर से आपको बधाई देता हूँ।

अगले वर्ष बांग्लादेश यात्रा के निमंत्रण के लिए आपका धन्यवाद करता हूँ। आपके साथ बंगबंधु को श्रद्धांजलि अर्पित करना मेरे लिए गर्व की बात होगी।

Excellency,

बांग्लादेश हमारी ‘Neighbourhood First’ नीति का एक प्रमुख स्तम्भ है। बांग्लादेश के साथ संबंधों में मजबूती और गहराई लाना मेरे लिए पहले दिन से ही विशेष प्राथमिकता रही है।

यह बात सही है कि वैश्विक महामारी के कारण यह वर्ष चुनौतीपूर्ण रहा है।

लेकिन संतोष का विषय है, कि इस कठिन समय में भारत और बांग्लादेश के बीच अच्छा सहयोग रहा।

चाहे वो दवाइयों या मेडिकल equipment में हो, या फिर health professionals का साथ काम करना हो। वैक्सीन के क्षेत्र में भी हमारे बीच अच्छा सहयोग चल रहा है। इस सिलसिले में हम आपकी आवश्यकताओं का भी विशेष ध्यान रखेंगे l

SAARC framework के तहत बांग्लादेश के योगदान के लिए मैं आपका आभार व्यक्त करता हूँ।

स्वास्थ्य के अलावा अन्य क्षेत्रों में भी इस वर्ष हमारी विशेष साझेदारी निरंतर आगे बढ़ती रही है।

Land border trade में बाधाओं को हमने कम किया। दोनों देशों के बीच connectivity का विस्तार किया। नए साधनों को जोड़ा।

यह सब हमारे संबंधों को और अधिक मजबूत करने के हमारे इरादों को दर्शाता है।

Excellency,

“मुजीब चिरंतर” – बंगबंधु का संदेश eternal है। और इसी भाव से हम भी उनकी legacy का सम्मान करते हैं।

आपके उत्तम नेतृत्व में बंगबंधु की legacy स्पष्ट रूप से झलकती है। साथ ही, हमारे द्विपक्षीय संबंधों के लिए आपकी निजी प्रतिबद्धता भी स्पष्ट है।

यह मेरे लिए गर्व की बात है कि आज आपके साथ बंगबंधु के सम्मान में एक डाक टिकट का विमोचन, और बापू और बंगबंधु के ऊपर एक डिजिटल प्रदर्शनी का उद्घाटन करने का मौका मिल रहा है। मैं आशा करता हूँ कि बापू और बंगबंधु की प्रदर्शनी हमारे युवाओं को प्रेरणा देगी, इसमे विशेष section कस्तुरबा गाँधी जी और पूजनीय बंगमाता जी को भी dedicate किया गया हैl

Excellency,

अब मैं आपके opening remarks आमंत्रित करना चाहूंगा।

क्र.सं. समझौता ज्ञापन/समझौता आदान-प्रदान में भारतीय पक्ष आदान-प्रदान में

बांग्लादेश का पक्ष

1. हाइड्रोकार्बन के क्षेत्र में सहयोग संबंधी सहमति की रूपरेखा बांग्लादेश में भारत के उच्चायुक्त अतिरिक्त सचिव (विकास), ऊर्जा एवं खनिज संसाधन विभाग
2. स्थानीय निकायों और अन्य सार्वजनिक क्षेत्र के संस्थानों के जरिए उच्च प्रभाव वाली सामुदायिक विकास परियोजनाओं के कार्यान्वयन के लिए भारतीय अनुदान सहायता के बारे में समझौता ज्ञापन बांग्लादेश में भारत के उच्चायुक्त सचिव, आर्थिक संबंध विभाग

 

3. सीमा–पार हाथी के संरक्षण संबंधीमसविदा (प्रोटोकॉल) बांग्लादेश में भारत के उच्चायुक्त सचिव, पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय
4. बरिशाल नगर निगम के लिए उपकरण की आपूर्ति और लमचोरी क्षेत्र में कचरे/ठोस अपशिष्ट निपटान केस्थल में सुधार के लिए समझौता ज्ञापन बांग्लादेश में भारत के उच्चायुक्त
  • सचिव, आर्थिक संबंध विभाग

ब.  महापौर,बरिशाल नगर निगम

5. कृषि के क्षेत्र में सहयोग संबंधी समझौता ज्ञापन बांग्लादेश में भारत के उच्चायुक्त कार्यकारी अध्यक्ष, बांग्लादेश कृषि अनुसंधान परिषद
6. राष्ट्रपिता बंगबंधु शेख मुजीबुर रहमान स्मारक संग्रहालय, ढाका, बांग्लादेश और राष्ट्रीय संग्रहालय, नई दिल्ली, भारत के बीच समझौता ज्ञापन बांग्लादेश में भारत के उच्चायुक्त संग्रहालय अध्यक्ष, राष्ट्रपिता बंगबंधु शेख मुजीबुर रहमान स्मारक संग्रहालय, ढाका
7. भारत-बांग्लादेश सीईओ के फोरम की संदर्भ शर्तें वाणिज्य सचिव, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय सचिव, वाणिज्य मंत्रालय

 

***

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.