दिसंबर-2020 में जीएसटी राजस्व का रिकॉर्ड संग्रह हुआ

01 JAN 2021

दिसंबर 2020 में 1,15,174 करोड़ रुपए के सकल जीएसटी राजस्व की वसूली हुई, जिसमें सीजीएसटी 21,365 करोड़ रुपए, एसजीएसटी 27,804 करोड़ रुपए, आईजीएसटी 57,426 करोड़ रुपए (वस्तुओं के आयात पर वसूली गई 27,050 करोड़ रुपए की राशि सहित), 8,579 करोड़ रुपए की उपकर राशि (वस्तुओं के आयात पर वसूल की गई 971 करोड़ रुपए की राशि सहित) शामिल है। 31 दिसंबर 2020 तक नवम्बर माह के लिए कुल 87 लाख जीएसटीआर-3बी रिटर्न दाखिल की गई।

सरकार ने नियमित निपटान के रूप में सीजीएसटी से 23,276 करोड़, एसजीएसटी से 17,681 करोड़ रुपए का निपटान किया। दिसंबर 2020 में नियमित निपटान के बाद केंद्र सरकार और राज्य सरकारों द्वारा अर्जित कुल राजस्व इस प्रकार है- सीजीएसटी के लिए 44,141 करोड़ रुपए और एसजीएसटी के लिए 45,485 करोड़ रुपए।

जीएसटी राजस्व में वसूली की वर्तमान प्रवृत्ति के अनुरूप दिसंबर 2020 में पिछले साल के इसी माह की तुलना में जीएसटी राजस्व 12 प्रतिशत अधिक रहा। पिछले साल दिसंबर माह की तुलना में इस माह के दौरान वस्तुओं के आयात से प्राप्त राजस्व 27 प्रतिशत अधिक रहा तथा घरेलू लेन-देन (सेवाओं के आयात सहित) से प्राप्त राजस्व आठ प्रतिशत ज्यादा रहा।

जीएसटी लागू होने के बाद से लेकर अब तक दिसंबर 2020 के दौरान जीएसटी राजस्व सर्वाधिक रहा और पहली बार इसने 1.15 लाख करोड़ के स्तर को पार किया। अब तक सबसे अधिक जीएसटी वसूली अप्रैल 2019 में 1,13,866 करोड़ रुपए की रही थी। अप्रैल में सामान्य रूप से अधिक राजस्व प्राप्त होता है क्योंकि वह अप्रैल की रिटर्न से संबंधित होता है और मार्च वित्तीय वर्ष का अंतिम मास होता है। दिसंबर 2020 में पिछले मास के 104.963 करोड़ रुपए के राजस्व की तुलना में अधिक राजस्व प्राप्त हुआ है। पिछले 21 महीनों में मासिक राजस्व में यह सबसे अधिक बढ़ोत्तरी है। ऐसा महामारी के बाद त्वरित आर्थिक रिकवरी और जीएसटी की चोरी करने वालों और नकली बिल बनाने वालों के खिलाफ राष्ट्रव्यापी अभियान के साथ-साथ अभी हाल में शुरू किए गए व्यवस्थागत परिवर्तनों के कारण संभव हुआ है, जिसके कारण अनुपालन में सुधार को बढ़ावा मिला है।

अभी तक जीएसटी से 1.1 लाख करोड़ से अधिक राजस्व प्राप्त हुआ है जो जीएसटी की शुरुआत से तीन गुणा अधिक है। चालू वित्त वर्ष में यह लगातार तीसरा महीना है जब अर्थव्यवस्था में महामारी के बाद रिकवरी के संकेत मिले हैं और जीएसटी राजस्व एक लाख करोड़ रुपए से अधिक हुआ है। पिछली तिमाही में जीएसटी राजस्व में औसत बढ़ोत्तरी 7.3 प्रतिशत रही है जबकि दूसरी तिमाही के दौरान यह -8.2 प्रतिशत तथा पहली तिमाही में    -41.0 प्रतिशत रही।

नीचे दिया गया चार्ट चालू वर्ष के दौरान मासिक सकल जीएसटी राजस्‍व में रूझानों को दर्शाता है। तालिका दिसंबर, 2019 की तुलना में दिसंबर 2020 के दौरान प्रत्‍येक राज्‍य में जीएसटी वसूली के राज्‍यवार आंकड़े दर्शाती है –

http://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001VX0Z.png

 

दिसंबर 2020 के दौरान जीएसटी राजस्‍व में राज्‍यवार बढ़ोत्‍तरी [1]

 

  राज्‍य दिसंबर-19 दिसंबर-20 बढोत्‍तरी
1 जम्‍मू और कश्‍मीर 409 318 -22%
2 हिमालच प्रदेश 699 670 -4%
3 पंजाब 1,290 1,353 5%
4 चंडीगढ 168 158 -6%
5 उत्‍तराखंड 1,213 1,246 3%
6 हरियाणा 5,365 5,747 7%
7 दिल्‍ली 3,698 3,451 -7%
8 राजस्‍थान 2,713 3,135 16%
9 उत्‍तर प्रदेश 5,489 5,937 8%
10 बिहार 1,016 1,067 5%
11 सिक्किम 214 225 5%
12 अरूणाचल प्रदेश 58 46 -22%
13 नगालैंड 31 38 23%
14 मणिपुर 44 41 -8%
15 मिजोरम 21 25 21%
16 त्रिपुरा 59 74 25%
17 मेघालय 123 106 -14%
18 असम 991 984 -1%
19 पश्चिम बंगाल 3,748 4,114 10%
20 झारखंड 1,943 2,150 11%
21 ओडिशा 2,383 2,860 20%
22 छत्‍तीसगढ़ 2,136 2,349 10%
23 मध्‍यप्रदेश 2,434 2,615 7%
24 गुजरात 6,621 7,469 13%
25 दमन और दीव 94 4 -96%
26 दादरा और नगर हवेली 154 259 68%
27 महाराष्‍ट्र 16,530 17,699 7%
29 कर्नाटक 6,886 7,459 8%
30 गोवा 363 342 -6%
31 लक्षद्वीप 1 1 -32%
32 केरल 1,651 1,776 8%
33 तमिलनाडु 6,422 6,905 8%
34 पुद्दचेरी 165 159 -4%
35 अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह 30 22 -26%
36 तेलंगाना 3,420 3,543 4%
37 आंध्र प्रदेश 2,265 2,581 14%
38 लद्दाख 0 8  
97 अन्‍य केन्‍द्रशासित प्रदेश 118 88 -25%
99 केंद्र अधिकार क्षेत्र 75 127 68%
कुल योग 81,042 87,153 8%
       

 

[1] इसमें वस्‍तुओं के आयात पर जीएसटी शामिल नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.