विदेशी निवेश (एफडीआई) प्रवाह में 62 प्रतिशत वृद्धि हुई

FDI Inflows grow 62% during first four months

चालू वित्त वर्ष के पहले चार महीनों के दौरान पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) प्रवाह में 62 प्रतिशत वृद्धि हुई

इसी अवधि में एफडीआई इक्विटी प्रवाह में 112 प्रतिशत से अधिक की बढ़ोतरी हुई

22 SEP 2021

एफडीआई नीति सुधारों, निवेश सुगमता और व्यापार करने में आसानी के मोर्चे पर सरकार द्वारा उठाए गए उपायों के परिणामस्वरूप देश में एफडीआई प्रवाह में वृद्धि हुई है। भारत के प्रत्यक्ष विदेशी निवेश में निम्नलिखित रुझान वैश्विक निवेशकों के बीच पसंदीदा निवेश गंतव्य के रूप में इसकी स्थिति को दर्शाते हैं:

  • वित्त वर्ष 2021-22 के पहले चार महीनों के दौरान भारत ने कुल 27.37 बिलियन अमेरिकी डॉलर के एफडीआई प्रवाह को आकर्षित किया है जो वित्त वर्ष 2020-21 (16.92 बिलियन अमेरिकी डॉलर) की इसी अवधि की तुलना में 62 प्रतिशत अधिक है।
  • पिछले साल की इसी अवधि (9.61 बिलियन अमेरिकी डॉलर) की तुलना में वित्त वर्ष 2021-22 (20.42 बिलियन अमेरिकी डॉलर) के पहले चार महीनों में एफडीआई इक्विटी प्रवाह में 112 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई।
  • वित्त वर्ष 2021-22 के पहले चार महीनों के दौरान ‘ऑटोमोबाइल उद्योग’ शीर्ष क्षेत्र के रूप में उभरा है। इसका कुल एफडीआई इक्विटी प्रवाह में योगदान 23 प्रतिशत रहा है, इसके बाद कंप्यूटर सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर (18 प्रतिशत) का और सेवा क्षेत्र (10 प्रतिशत) का स्थान रहा है।
  • चालू वित्त वर्ष (2021-22) के पहले चार महीनों के दौरान ‘ऑटोमोबाइल उद्योग’ क्षेत्र के तहत, एफडीआई इक्विटी का अधिकांश प्रवाह (87 प्रतिशत) कर्नाटक राज्य में होने की सूचना प्राप्त हुई है।
  • वित्त वर्ष 2021-22 (जुलाई, 2021 तक) के दौरान कुल एफडीआई इक्विटी प्रवाह में 45 प्रतिशत हिस्से के साथ कर्नाटक शीर्ष प्राप्तकर्ता राज्य रहा है, इसके बाद महाराष्ट्र (23 प्रतिशत) और दिल्ली (12 प्रतिशत) का स्थान रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.